Sunday, 7 November 2010

काली पूजा के कुछ चित्र देखिए ..........

कार्तिक अमावस्या की शाम को घर घर होने वाली लक्ष्‍मी पूजा के साथ ही रात्रि में काली पूजा की भी बहुत महत्ता है। एंसी मान्‍यता है कि देवों में सबसे पराक्रमी और शक्तिशाली मां काली देवी दुर्गा का ही एक रूप हैं। मां काली की पूजा से वे सभी सभी नकारात्मक प्रवृतियां दूर होती हैं ,  जो धार्मिक प्रगति और यश प्राप्ति में बाधक हैं। बोकारो में हमारी कॉलोनी मे हुए काली पूजा के कुछ चित्र देखिए .....................




10 comments:

ललित शर्मा said...

वाह संगीता जी, नए कैमरे का कमाल अब देखने मिलेगा। बहुत सुंदर चित्र हैं। शुभकामनाएं

डॉ॰ मोनिका शर्मा said...

बहुत सुंदर.....

मनोज कुमार said...

बहुत अच्छा लगा। जय मां काली।

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

चित्र मनमोहक हैं ..आभार

Coral said...

बहुत सुन्दर.....

काली पूजा इस बार घर न जा पाए तो क्या ... माँ के दर्शन हो ही गए ....

धन्यवाद !

Tarkeshwar Giri said...

Ati man bhawan

vinay said...

सुन्दर चित्र ।

अजय कुमार झा said...

शुक्रिया संगीता जी ,
मुद्दत हो गए गांव की काली पूजा को देखे हुए कम से कम आपके बहाने से मां काली के दर्शन तो हो ही गए ...दीपावली , भाईदूज और छठ पर्व की भी शुभकामनाएं

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

वाह बहुत सुन्दर चित्र हैं!

Udan Tashtari said...

आभार इन चित्रों के लिए.

.