Tuesday, 26 April 2011

अब बस दादी बनने का इंतजार है ......

वैसे भतीजी के विवाह के बाद सास तो मैं बारह वर्ष पूर्व ही बन गयी थी , 28 फरवरी 2011 को घोडी पर चढे दुल्‍हा बने अपने साले साहब को संभालते हमारे घर के इकलौते दामादजी ..... 


दस वर्ष पूर्व ही इस प्‍यारे से नाती की नानी बनने का भी मौका मिल गया , इसे सुंदर ड्रेस से ललचाकर वर के सहबाला बनने को तैयार किया गया हैं  ....


सारी तैयारी होने के बाद जयमाल , विधि व्‍यवहार और विवाह में आजकल देर थोडे ही लगती है , दूसरे दिन  10 बजे स्‍वागत के लिए तैयार थी भतीजे चि विनीत के साथ हमारी बहूरानी सौ भारती ....



ये दोनो हमेशा खुश रहें , आबाद रहे , बस यही कामना है .. अब बस दादी बनने का इंतजार है ......

12 comments:

सतीश सक्सेना said...

वाकई यह एक सौभाग्य होगा और मेरी कामना है कि आपकी मनोकामना शीघ्र पूरी हो !

Rahul Singh said...

ईश्‍वर आपकी तमन्‍ना पूरी करे, शुभकामनाएं.

शिवम् said...

अरे वाह दीदी ... चलिए हम भी इंतज़ार में है ... खुशखबरी के और मिठाई के ... ;-)

शिवम् said...

अरे वाह दीदी ... चलिए हम भी इंतज़ार में है ... खुशखबरी के और मिठाई के ... ;-)

Udan Tashtari said...

आर्यव की दादी तो बन ही गईं...अब तो डबल प्रमोशन लगेगा. :)

GirishMukul said...

ये तो अनुपम सपन निराला
सपना लेकर सपना आये
किलकारी से गूंजे आंगन
बिन बचपन कुछ सज न पाए

दिव्य नर्मदा divya narmada said...

मुक्तिका
माँ
संजीव 'सलिल'
*
बेटों के दिल पर है माँ का राज अभी तक.
माँ के आशिष का है सिर पर ताज अभी तक..

प्रभू दयालु हों इसी तरह हर एक बेटे पर
श्री वास्तव में माँ है, है अंदाज़ अभी तक..

बेटे जो स्वर-सरगम जीवन भर गुंजाते.
सत्य कहूँ माँ ही है उसका साज अभी तक..

बेटे के बिन माँ का कोई काम न रुकता.
माँ बिन बेटों का रुकता हर काज अभी तक..

नहीं रही माँ जैसे ही बेटा सुनता है.
बेटे के दिल पर गिरती है गाज अभी तक..

माँ गौरैया के डैने, ममता की छाया.
पा बेटे हो जाते हैं शहबाज़ अभी तक..

कोई गलती हो जाये तो आँख न उठती.
माँ से आती 'सलिल' सुतों को लाज अभी तक..

नानी तो बन गयी, कभी दादी बन जाऊँ.
माँ भरती है 'सलिल' यही परवाज़ अभी तक..

********

एम सिंह said...

भगवान आपको जल्द से जल्द दादी बनाए. और हां, जब आप दादी बनेंगी, वादा करो की मिठाई जरूर खिलाएंगी.

चखिए तीखा-तड़का
पारा तो चढ़ेगा ही

ललित शर्मा said...

दादी बनने की अग्रिम बधाई स्वीकार करें। मिठाई तो बाद में खा सकते हैं। :)

डॉ॰ मोनिका शर्मा said...

आपकी मनोकामना शीघ्र पूरी हो .....

Kajal Kumar said...

वाह.मुबारक़.

ajit gupta said...

संगीताजी, अभी तो शादी हुई हैं और अभी से आप जिम्‍मेदारी के बोझ तले दाब देना चाहती हैं। दादी भी बन जाना जल्‍दी क्‍या है?

.