Tuesday, 18 October 2011

मात्र 20 वर्ष व्‍यतीत हुए ... और इनका जमाना आ गया !!

अभी कुछ दिन पूर्व ही एलबम देखते हुए 20 वर्ष पुराने इस चित्र पर नजर पडी , इसमें रोता हुआ बच्‍चा मेरा बडा सुपुत्र है , जो अभी इंजीनियरिंग के तृतीय वर्ष का छात्र है ,  साथ में  हमारे दो घनिष्‍टतम मित्र की दोनो बच्चियां हैं , जिसमें से एक डीवीसी में ही इंजीनियर है , इसी वर्ष फरवरी माह में उसका विवाह हुआ है और पति के साथ बंगलौर में निवास कर रही है। दूसरी का विवाह बी कॉम करने के बाद हुआ , एक बेटे की मां है और अपने पति के साथ दिल्‍ली में है ।

इस चित्र में जो दो लडके सबसे बडे दिखाई दे रहे हैं , वो जेठ जी के बच्‍चे हैं , बडा अभी दुबई के किसी कंपनी में कार्यरत है ,  जबकि दूसरा बंगलौर में ही है। चित्र में मौजूद अन्‍य दोनो लडके उस समय हमारे पडोस में रह रहे एक पडोसी के बच्‍चे हैं , जिनमें से एक बंगाल सरकार के किसी विभाग में कार्यरत है और दूसरा इंजीनियरिंग करने के बाद ऑस्‍ट्रेलिया में किसी फर्म में काम कर रहा है। समय कितनी तेज गति से आगे बढता है , मात्र 20 वर्ष व्‍यतीत हुए और इन बच्‍चों का जमाना आ गया .............

12 comments:

ब्लॉ.ललित शर्मा said...

अगली पीढी ने जिम्मेदारी संभाल ली, सच में, समय बहुत तेजी से गुजरता है।

Harsh Rastogi said...

जी हाँ हमें भी इस बात का अहसास बालक की बड़ती उम्र के साथ हो रहा है।

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन said...

सच है, सब कल ही की बात लगती है।

अभिषेक मिश्र said...

जमाना काफी तेजी से आगे भी आ रहा है और पीछे भी छुट रहा है.

rashmi ravija said...

सचमुच ..समय कैसे बीत जाता है...पता ही नहीं चलता कब ये छोटे-छोटे बच्चे जिम्मेदार नागरिक बन गए

संतोष त्रिवेदी said...

नई पीढ़ी सरपट दौड़ रही है !

Amrita Tanmay said...

सही कहा ..और हमारा ज़माना पीछे जाता हुआ दिख रहा है..

कुमार राधारमण said...

Isiliye,Bhartrihari kahte hain ki samay nahin beetata,hum hi beet jate hain.

ASHA BISHT said...

pyari yaaden....

Hari Shanker Rarhi said...

chitron se yaden jeevit ho jaati hain.

अनुपमा पाठक said...

सच समय बहुत तेजी से गुजरता है।

Swarajya karun said...

वाकई ! बचपन के दिन भी क्या दिन थे ! काश ! हम सबका बचपन एक बार फिर लौट आता ! बहरहाल .सुंदर भावनात्मक प्रस्तुति के लिए आभार. धनतेरस ,दीवाली ,गोवर्धन पूजा और भाई दूज की आपको सपरिवार हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं. इस चित्र में नज़र आ रहे उन सभी बच्चों को भी बहुत-बहुत बधाई और शुभकामनाएं, जो आज जिंदगी की राह में अलग-अलग मुकाम पर काम करते हुए समाज में अपना स्थान बना रहे हैं .

.